State News- राज्यमध्य प्रदेश

भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुई प्रियंका गांधी, 4 दिनों तक कदम से कदम मिलाकर चलेंगी राहुल के साथ

खंडवा : कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ छह दक्षिणी और पश्चिमी राज्यों से होते हुए बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में प्रवेश कर गई है. 3,570 किलोमीटर का पैदल मार्च राज्य में आज बोरगोन गांव से शुरू हो गया, जहां राहुल गांधी को बहन प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) का साथ भी मिला. प्रियंका गांधी भी भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हो गई हैं.

बोरगांव से यात्रा शुरू हो गई है. करीब 10 बजे दुल्हार फाटा के पास यात्रा को कुछ देर के लिए विराम दिया जाएगा. इसके बाद, यात्रा शुरू होकर बडोदा अहीर पहुंचेगी. यहां दोपहर में राहुल गांधी टंट्या भील को श्रद्धांजलि देंगे. दोपहर 2.35 पर एक आदिवासी सभा का आयोजन होगा. इसके बाद, करीब 3 बजे ये यात्रा पंथाना – गुरुद्वारा साहिब पहुंचेगी. और शाम करीब 7-8 के बीच यात्रा रोशिया (खेरदा) में विश्राम करेगी.

5 दिसंबर को यात्रा राजस्थान में प्रवेश करने से पहले छह जिलों बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, इंदौर, उज्जैन (Burhanpur, Khandwa, Khargone, Indore, Ujjain) और आगर-मालवा के 25-30 विधानसभा क्षेत्रों से होते हुए मध्य प्रदेश में 399 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. मध्य प्रदेश की पांच लोकसभा सीटें (Lok Sabha seats) भारत जोड़ो यात्रा के मार्ग में आती हैं. खंडवा, खरगोन, इंदौर, उज्जैन और देवास. इन सभी सीटों पर बीजेपी का कब्जा है.

बता दें कि कांग्रेस का फोकस रूट की उन 16 विधानसभा सीटों पर है, जिन पर फिलहाल बीजेपी का कब्जा है. पार्टी 2023 के विधानसभा चुनाव में सभी 16 सीटों पर जीत का लक्ष्य लेकर चल रही है. कांग्रेस ने राज्य में 2018 का विधानसभा चुनाव जीता था, लेकिन कमलनाथ (Kamal Nath) के नेतृत्व वाली उसकी सरकार दो साल बाद गिर गई थी, क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) 20 से अधिक विधायकों के साथ बीजेपी में शामिल हो गए. इसके बाद राज्य में बीजेपी की सरकार बनी.

बुरहानपुर के ट्रांसपोर्ट नगर में एक सार्वजनिक रैली में बोलते हुए राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्व वाली सरकार की नीतियों की आलोचना की, जिसमें उन्होंने महंगाई, अग्निवीर योजना में कथित खामियों और सरकारी संस्थाओं के निजीकरण की ओर इशारा किया. उन्होंने संबोधन में कहा, “नोटबंदी और जीएसटी कोई नीति नहीं है, यह एक हथियार है. ये ऐसे हथियार हैं जिनका इस्तेमाल छोटे व्यापारियों, किसानों, मजदूरों और एमएसएमई को मारने के लिए किया गया. इसने व्यापारियों की कमर तोड़ दी है.”

नई सेना भर्ती योजना पर राहुल ने कहा, “सरकार और भारतीय सेना के बीच एक पवित्र रिश्ता था, लेकिन अब मोदी की अग्निवीर योजना ने इस रिश्ते को तोड़ दिया है. चार साल की सेवा के बाद वे बेरोजगार हो जाएंगे.” गुरुवार को राहुल गांधी के खंडवा जिले के पंधाना शहर में आदिवासी आइकन टंट्या मामा के जन्म स्थान बडोदा अहीर जाने की उम्मीद है.

Unique Visitors

13,771,120
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... A valid URL was not provided.

Related Articles

Back to top button