Entertainment News -मनोरंजनदिल्ली

आज पंचतत्व में विलीन होंगे राजू श्रीवास्तव, दिल्ली में होगा अंतिम संस्कार

नेशनल डेस्क: कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव ने अपने कॅरियर की शुरुआत में अमिताभ बच्चन जैसा दिखकर प्रसिद्धि पाई, लेकिन बाद में उन्होंने एक हास्य कलाकार के रूप में खुद की अलग पहचान बनाई। श्रीवास्तव का बुधवार को नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया जहां वह 41 दिन से भर्ती थे। राजू श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार आज सुबह 9.30 बजे दिल्ली में ही किया जाएगा।

हास्य अभिनय के कॅरियर से राजू ने राजनीति की ओर रुख किया और कुछ दिन समाजवादी पार्टी में रहने के बाद भाजपा में शामिल हो गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें ‘स्वच्छ भारत अभियान’ से जोड़ा और उन्हें उत्तर प्रदेश की फिल्म विकास परिषद का अध्यक्ष भी बनाया गया। वह इस पद पर अपने अंतिम समय तक रहे। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली के एक होटल में कसरत करते हुए दिल का दौरा पड़ा था। इससे एक दिन पहले ही अपने आखिरी ट्वीट में उन्होंने एक वीडियो डाला और 13 से 15 अगस्त के बीच हर घर तिरंगा फहराने के प्रधानमंत्री के आह्वान का समर्थन किया।

कानपुर के इस युवा ने अपने अलग तरह के हास्य से रंगमंच, टेलीविजन पर और सोशल मीडिया मंचों पर अपने दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। उनके हास्य में आसपास की चीजों, पशुओं, समाज के विभिन्न किरदारों पर आधारित चुटकुले होते थे।वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और लालू प्रसाद जैसे राजनेताओं तथा अनेक कलाकारों की नकल करने के लिए भी जाने जाते थे।

उन्होंने कुछ फिल्मों में छोटे-छोटे किरदार भी किए। मसलन ‘तेजाब’ (1988), ‘मैंने प्यार किया’ (1989) और ‘बाजीगर’ (1993) में उन्हें देखा गया था। उन्होंने 1990 के दशक में दूरदर्शन के मशहूर शो ‘शक्तिमान’ में भी काम किया था। हालांकि 2005 में ‘द ग्रेट इंडिया लाफ्टर चैलेंज’ नामक शो से उन्हें और ज्यादा पहचान मिली। घर-घर में वह हंसी का पर्याय बन गये, मंचों की शान बन गये। वह खुद को एक आलसी ग्रामीण किरदार ‘गजोधर भैया’ के रूप में प्रस्तुत करते थे और उनके प्रशंसक उन्हें इस नाम से भी पुकारते थे।

Unique Visitors

13,411,573
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button