स्पोर्ट्स

MMA के फाइनल में पहुंच रितु फोगाट ने रचा इतिहास, अब चैंपियन से होगी जंग

सिंगापुरः रितु फोगाट ने किक-बॉक्सिंग में कदम रखते ही जलवा कायम कर दिया है। अब वे देश की पहली महिला MMA (मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स) चैंपियन बनने के करीब हैं। उनका वन विमेंस एटमवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप MMA फाइनल मुकाबला स्टैम्प फेयरटेक्स से होगा। यह मुकाबला 3 दिसंबर को खेला जाएगा।

बता दें कि वन विमेंस एटमवेट वल्र्ड ग्रैंड प्रिक्स सेमीफाइनल में फिलीपींस की जेनलिन ओल्सिम को हराने के बाद 27 साल की रितु फोगाट अब 3 दिसंबर को इस टूर्नामेंट में अपनी अंतिम विरोधी का सामना करने के लिए तैयार हैं। नंबर 4 की एटमवेट रितु फोगाट का शुक्रवार को वन विमेंस एटमवेट वल्र्ड ग्रैंड प्रिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में पूर्व वन एटमवेट मॉय थाई और थाईलैंड की किकबॉक्सिंग वल्र्ड चैंपियन स्टैम्प फेयरटेक्स से भिड़ना तय है। रितु ने इस मैच को लेकर अपनी पूरी योजना बनाई है।

रितु ने कहा, “मैं बहुत लंबे समय से फाइनल पर ध्यान दे रही हूं और मैंने पिछले दो सालों से अनगिनत घंटों तक अभ्यास किया है। जीत मेरी कल्पना से कहीं ज्यादा करीब है और मैं इसे पाने की पूरी योजना बना रही हूं। यह मैच वास्तव में मेरे करियर और भारत की प्रतिष्ठा के लिए महत्वपूर्ण होने वाला है, क्योंकि भारत में पहले कभी भी कोई महिला MMA चैंपियन नहीं बनी है और मेरे पास यह बनने का पूरा मौका है। इसलिए, मैं भारत को गौरवान्वित करने के लिए अपनी पूरी कोशिश करूंगी।”

उल्लेखनीय है कि देश में पहलवानी को बढ़ाने में फोगाट परिवार का बड़ा हाथ रहा है। गीता-बबीता फोगाट और विनेश ने दुनिया को अपना दम दिखाया। पिता महावीर फोगाट ने देश को कई बड़े पहलवान दिए। खास कर इस खेल में आने के लिए लड़कियों को प्रोत्‍साहित किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button