International News - अन्तर्राष्ट्रीय

लैब-लीक थ्योरी को नकारने वाले वैज्ञानिक वुहान लैब से जुड़े : रिपोर्ट

लंदन: चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (डब्ल्यूआईवी) से कोविड-19 के लीक होने के सिद्धांत को खारिज करने वाले वैज्ञानिकों का संबंध इस कुख्यात लैब से है। द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल 7 मार्च को द लैंसेट में प्रकाशित एक पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले वैज्ञानिकों में से एक ने लैब-लीक सिद्धांत को खारिज कर दिया था।

27 वैज्ञानिकों द्वारा हस्ताक्षरित और ब्रिटिश प्राणी विज्ञानी पीटर दासजक द्वारा शुरू किए गए लैंसेट पत्र ने इस वैज्ञानिक बहस को प्रभावी ढंग से बंद कर दिया कि क्या कोरोनावायरस में हेरफेर किया गया था या चीनी लैब से लीक किया गया था। दासजक अमेरिका स्थित गैर-लाभकारी इकोहेल्थ एलायंस के अध्यक्ष हैं, जिनका चीन से सीधा संबंध है। फर्म ने डब्ल्यूआईवी में अनुसंधान को भी वित्त पोषित किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, हस्ताक्षरकर्ताओं ने कहा कि उन्होंने वुहान में कोरोनावायरस के प्रकोप के आसपास ‘साजिश के सिद्धांतों की कड़ी निंदा’ की।

सूचना की स्वतंत्रता अनुरोध का उपयोग करते हुए किए गए चौंकाने वाले रहस्योद्घाटन से पता चला है कि 8 फरवरी को दासजक द्वारा भेजे गए एक ईमेल से पता चला है कि उन्हें चीन में ‘हमारे सहयोगियों’ द्वारा ‘समर्थन दिखाने’ के लिए पत्र लिखने का आग्रह किया गया था। एक्सप्रेस डॉट को डॉट यूके ने अखबार का हवाला देते हुए कहा, दसजक ने अंतत: इकोहेल्थ एलायंस में अपनी भागीदारी की घोषणा की। वह यह उल्लेख करने में विफल रहे कि पांच अन्य हस्ताक्षरकर्ताओं ने भी संगठन के लिए काम किया।

इसके अलावा, लैंसेट पत्र पर हस्ताक्षर करने वालों में से तीन ब्रिटेन के वेलकम ट्रस्ट से थे, जिसने डब्ल्यूआईवी में काम के लिए धन भी दिया है। हस्ताक्षरकर्ताओं में से एक, सेज के सदस्य और ट्रस्ट के निदेशक, सर जेरेमी फरार, वुहान सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के प्रमुख जॉर्ज गाओ को ‘पुराना दोस्त’ बताते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि गाओ, जो वेलकम ट्रस्ट के पूर्व शोध सहायक भी हैं, ने दासजक के राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी में नामांकन का समर्थन किया था।

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंhttp://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastaklko
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूजवीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए https://www.youtube.com/channel/UCtbDhwp70VzIK0HKj7IUN9Q

Related Articles

Back to top button