Business News - व्यापार

इस हाउसिंग फाइनेंस कंपनी ने 190 गुना बढ़ाई निवेशकों की पूंजी

नई दिल्ली: हाउसिंग फाइनेंस कंपनी कैन फिन होम्स लिमिटेड ने करोड़ों लोगों के अपना घर खरीदने के सपने को साकार किया है. वहीं इसने अपने निवेशकों को भी जमकर रिटर्न दिया है. पिछले करीब 23 वर्षों में कैन फिन होम्स लिमिटेड के शेयरों की कीमत में 190 गुना की बढ़ोतरी हुई है.

देश में घरों की बिक्री को बढ़ावा देने के मकसद से साल 1987 में कैन फिन होम्स लिमिटेड कंपनी की स्थापना की गई थी. पब्लिक सेक्टर की लेंडर कैनरा बैंक इसकी प्रमोटर है. कैन फिन होम्स लिमिटेड की कुल मार्केट वैल्यू 6,970 करोड़ रुपये है. इसके शेयरों की कीमत में पिछले दो दशकों में बेतहाशा वृद्धि हुई है और निवेशकों के लिए यह मल्टीबैगर साबित हुआ है.

करीब 23 साल पहले 1 जनवरी 1999 को जब पहली एनएसई पर कैन फिन होम्स शेयरों में कारोबार शुरू हुआ, तब इसकी प्रभावी कीमत महज 2.73 रुपये थी. वहीं गुरुवार 24 नवंबर को एनएसई पर इसके शेयर 523.40 रुपये के भाव पर बंद हुए. इस तरह पिछले 23 सालों में इस कंपनी के शेयरों में करीब 19,072.16 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

कैन फिन होम्स के शेयरों में अगर किसी निवेशक ने 1 जनवरी 1999 को 1 लाख रुपये का निवेश किया होता और अभी तक उसे बनाकर रखा होता, तो आज उसके 1 लाख रुपये की वैल्यू 19,072.16% बढ़कर 1.90 करोड़ रुपये हो गई होती. इस तरह कैन फिन होम्स ने अपने निवेशकों को लखपति से करोड़पति बना है.

कैन फिन होम्स के शेयरों में आगे भी तेजी का अनुमान है. घरेलू ब्रोकरेज फर्म कीनोट कैपिटल (Keynote Capitals) का कहना है कि कैन फिन होम्स के शेयरों में मौजूदा स्तर से करीब 27 फीसदी की तेजी आ सकती है. ब्रोकरेज ने अपनी रिपोर्ट में कहा, कैन फिन होम्स को कैनरा बैंक ने साल 1987 में HDFC और UTI के साथ मिलकर शुरू किया था.

यह कंपनी लोअर और मिडिल इनकम ग्रुप वाले और पहली बार घर खरीदने जाने वाले लोगों पर फोकस करती है. इसके होम लोन की औसत साइज वित्त वर्ष 2022 में 21 लाख रुपये थी. कंपनी के एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) में वित्त वर्ष 2012 के बाद से 26% CAGR की दर से बढ़ोतरी हुई है. वहीं वित्त वर्ष 2022 में यह बढ़कर 270 अरब रुपये पर पहुंच गया, जो वित्त वर्ष 2012 में 27 अरब रुपये था.

कैन फिन होम्स के शेयरों के लिए कीनोट कैपिटल ने 670 रुपये का टारगेट प्राइस फिक्स किया है. ब्रोकरेज का कहना है कि कंपनी की भविष्य में ग्रोथ करने की संभावना और इसकी एसेट क्वालिटी को बरकरार रखने की क्षमता को देखते हुए हमने कैन फिन होम्स के शेयरों को ‘खरीद (BUY)’ रेटिंग के साथ कवर करना शुरू किया है. यानी ब्रोकरेज ने इसके शेयरों को खरीदने की सलाह दी है.

कैन फिन होम्स के चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के नतीजे मिले-जुले रहे. कंपनी का नेट प्रॉफिट सितंबर तिमाही में 14.6% बढ़कर 141.71 करोड़ रुपये रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 123.64 करोड़ रुपये रहा था. वहीं कंपनी की कुल सितंबर तिमाही में 40.5% बढ़कर 657.55 करोड़ रुपये रहा. इस दौरान तिमाही आधार पर कंपनी का NPA 23% से ज्यादा बढ़ा.

ब्रोकरेज फर्म कीनोट कैपिटल का कहना है कि कैन फिन होम्स ने सभी ऑपरेटिंग स्तर पर भी शानदार प्रदर्शन किया है. वहीं कंपनी बिना कॉम्पिटीशन वाले शहरों में हर साल 12 से 15 नई शाखाएं खोल रही है. ऐसे में ब्रोकरेज का मानना है कि कंपनी के AUM में 18-20% की ग्रोथ आगे भी बरकरार रहेगी. इसके अलावा कंपनी अब क्रॉस-सेलिंग इंश्योरेंस पॉलिसी के बिजनेस में भी उतरी है, जिसके लिए इसने तीन कंपनियों के साथ है.

Unique Visitors

13,769,283
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button