मोटापा कम करने में कारगर है वीरभद्रासन-3, मांसपेशियों को गति देने में सहायक

जीवनशैली : भागदौड़ के चलते आजकल लोग योग, व्यायाम को कम महत्व देते हैं इसलिये शरीर में तरह—तरह की समस्याएं उत्पन्न होती रहती हैं। लोगों में मोटापा आम समस्या बन गई है। हर तीसरा व्यक्ति इस बीमारी से पीड़ित है। एक बार वजन बढ़ जाए, तो कम करना टेढ़ी खीर साबित होता है। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने मेटाबॉलिज्म (उपापचय) में सुधार और मुख्य मांसपेशियों को गति प्रदान करें। जब बात इन दोनों की होती है, तो इसके लिए योग सबसे उत्तम है। यदि कोई भी व्यक्ति अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं और इससे निजात पाने के लिए सभी हथकंडे अपना चुके हैं। इसके बावजूद आपको बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में मदद नहीं मिली है, तो आप योग का सहारा ले सकते हैं।

आईपीएल 2020 : युजवेंद्र चहल को मिलना चाहिए था मैन ऑफ द मैच : बेन स्टोक्स

योग के कई आसन हैं। इनमें एक वीरभद्रासन-3 है। इसे अंग्रेजी में वॉरियर पोज-3 भी कहा जाता है। इस योग को करने से बढ़ते वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि वीरभद्रासन-3 क्या है और कैसे किया जाता है- संस्कृत के दो शब्दों वीर यानी योद्धा और भद्र अर्थात मित्र से मिलकर बना है। जबकि हिंदी में कहें तो वीरों की मुद्रा में रहना वीरभद्रासन कहा जाता है। इसके तीन प्रकार हैं। हालांकि, जब बात वजन कम करने और मजबूती की आती है, तो वीरभद्रासन-3 सबसे बेहतर है।

योग विशेषज्ञों की मानें तो वजन कम करने के लिए वीरभद्रासन-3 किसी दवा से कम नहीं है। आमतौर पर इसे करने में कठिनाई होती है। इसके लिए आप शुरू के दिनों में दीवार और कुर्सी का सहारा लेकर वीरभद्रासन-3 करें। जब शारीरिक संतुलन स्थापित हो जाए, तो फिर आप इसे आसानी से कर सकते हैं।

कैसे करें

सबसे पहले समतल स्थान पर योग मैट बिछाकर उस पर सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएं। अब अपने दोनों हाथों को हवा में लहराकर ऊपर ले जाएं और प्रणाम की मुद्रा में आ जाएं। इसके बाद अपने शरीर को फर्श के समानांतर आगे की तरफ झुकाएं। इस दौरान अपने कानों को बाहों के पीछे रखें। अब धीरे-धीरे अपने बाएं पैर को हवा में उठाएं और हाथ और शरीर के सीध में रखें। वीरभद्रासन-3 करने के दौरान संतुलन बनाने के लिए अपनी निगाहें फर्श पर रखें। इस योग को लगातार 30 दिनों तक करने से मोटापे में बहुत जल्द आराम मिलता है।

कैसे होती है ATM से चोरी देखें LIVE वीडियो