State News- राज्यTOP NEWSउत्तराखंड

उत्तराखंड में मौसम तो खुला मगर सड़कें नहीं खुलीं

देहरादून: उत्तराखंड में चार दिन की बर्फबारी के बाद मौसम खुल गया। लेकिन, लोगों की मुश्किलें अभी भी बरकरार हैं। दर्जनों सड़कों पर मंगलवार को भी यातायात ठप रहा। ऊंचाई वाले ग्रामीण क्षेत्रों में पैदल रास्ते भी बर्फबारी से बंद हैं। उत्तरकाशी जिले में पिछले चार दिनों से बंद गंगोत्री हाईवे को मंगलवार को गंगोत्री तक छोटे वाहनों के लिए खोल दिया गया है। लेकिन यमुनोत्री हाईवे पर राड़ी टॉप के आसपास 12 किमी क्षेत्र में बर्फबारी से सड़क बंद हैं। जिले में आठ और सड़कें भी बंद चल रही हैं। उधर, देवप्रयाग के पास साकनीधार में चट्टान दरक जाने से बदरीनाथ हाईवे तीन घंटे तक बंद रहा। राजमार्ग बाधित होने से हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई। यहां नियमित बस सेवाएं भी हाईवे पर फंसी रहीं। सतपुली दूधारखाल मोटर मार्ग दंगलेश्वर मंदिर के पास बंद हो जाने से लोगों को नयार नदी पारकर गंतव्य तक पहुंचना पड़ा।

ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे करीब तीन घंटे तक बंद रहा
ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर साकनीधार के पास ऑलवेदर रोड का मलबा आने से सड़क बाधित हो गई। एनएच कर्मचारियों ने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद मलबा हटाया। रास्ता खुलने के बाद ही देर रात साढ़े आठ बजे यहां आवाजाही सुचारु हो सकी। बीते सोमवार को करीब साढ़े पांच बजे भारी बारिश से ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे के साकनीधार के निकट ऑलवेदर रोड का पथरीला मलबा दरक गया था। तब वहां से कोई वाहन नहीं गुजर रहा था। पुलिस ने मलेथा और देवप्रयाग-गजा सड़क पर यातायात को डायवर्ट कर दिया।

बारिश-बर्फबारी से टिहरी के सौड़ गांव में मकान ढहा
बारिश-बर्फबारी से सौड़ उप्पू में महिला के मकान का हिस्सा ढह गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला और उसके बच्चों के दूसरी जगह ठहरने की व्यवस्था की। साथ ही, प्रशासन को सूचना दी। एसएचओ कमल मोहन भंडारी ने बताया कि 9 जनवरी को सौड़ उप्पू में हेमंती देवी के मकान का एक हिस्सा ढह गया। पुलिस ने महिला सहित उनकी दो बेटियों और बेटे के लिए अन्यत्र रहने की व्यवस्था कर दी है। कोई जनहानि न होने की सूचना के साथ प्रशासन को महिला को हुए नुकसान से भी अवगत करा दिया गया है।

धनोल्टी में तीन दिन से बिजली और पानी नहीं
बारिश और बर्फबारी के चलते धनोल्टी में पिछले तीन दिनों से बिजली और पीने के पानी की सप्लाई बंद है। इस कारण बड़ी संख्या में पर्यटक धनोल्टी से वापस लौट रहे हैं। वहीं, थत्यूड़ बाजार समेत दर्जनों गांवों में भी बिजली सप्लाई ठप है। पर्यटन नगरी धनोल्टी में बर्फबारी के कारण बिजली के कई पोल टूट जाने से बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। तीन दिन से यहां पानी भी नहीं आ रहा है। वहीं, ऊर्जा निगम के सहायक अभियंता अमित तोमर का कहना है कि बिजली की लाइनें जोड़ दी गई हैं। बाकी कुछ तकनीकी खराबी है, जिसे जल्द दुरुस्त कराकर आपूर्ति बहाल करा दी जाएगी। लोखंडी में भी बिजली आपूर्ति ठप: चकराता। बर्फबारी के चार दिनों के बाद मंगलवार दोपहर बाद चकराता-त्यूणी मार्ग खुल गया। लेकिन, लोखंडी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति अभी भी ठप है। धारनाधार के समीप बिजली के कई पोल और तारें टूटने से क्षेत्र के 30 गांव पिछले पांच दिनों से अंधेरे में हैं। ऊर्जा निगम-चकराता के अवर अभियंता (जेई) अश्वनी शर्मा का कहना है कि बिजली लाइन जगह-जगह से टूटी है। बर्फबारी के चलते मरम्मत में समय लग रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button