चार महीने से ये सात महिलाएं इस तरह से कर रही अर्जित लाखों की आमदनी

हमीरपुर: किसानों की आमदनी दोगुनी करने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मंशा यहां हमीरपुर जनपद में साकार हो रही है। खरौंज और कारीमाटी गांव में ही तमाम ऐसी महिलाओं ने कोरोना संक्रमण काल में ऊबड़खाबड़ खेतों में उम्मीद की फसलें उगाई हैं जो घूंघट लेने की प्रथा में जकड़ी थीं।

घर की खुशहाली के लिये घूंघट से बाहर निकलकर महिलाओं ने सवा एकड़ जमीन पर मूंगफली और सब्जियों का उत्पादन कर आर्थिक विपन्नता को बॉय-बॉय कर दिया है।

सुमेरपुर सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में महिलाओं ने घूंघट प्रथा से बाहर निकलकर खेतीबाड़ी की ओर रुख किया है। आर्थिक स्थित से कमजोर महिलाओं ने एक एकड़ खेत में ही सब्जियां उगाकर अपने जीवन को ही बदल दिया है।

सौखर गांव की सोमवती पत्नी महादेव ने सवा एकड़ खेत में सब्जियों का उत्पादन किया और तीन महीने मे ही उसे 80 हजार रुपये का मुनाफा हुआ। इस महिला किसान ने बताया कि एक सीजन में अस्सी हजार रुपये की सब्जी से अतिरिक्त आमदनी हुयी है जबकि दो सीजन में सब्जियों के साथ खरीफ की फसलों का उत्पादन कर एक साल के अंदर 2.40 लाख रुपये का अतिरिक्त आय हासिल की है।

यह भी पढ़े: दीपिका ने नेशनल अवार्ड जीत के लिए बेलाट्रिक्स एरोस्पेस को दी बधाई – Dastak Times 

हमीरपुर में महिला किसानों का कहना है कि शुरू में रबी, खरीफ और जायद की फसलें नही हो पाती थीं लेकिन समर्थ फाउंडेशनसंस्था की मदद मिलने से अब दोगुनी आय सब्जियों की फसल से हो रही है। सोमवती ने उम्मीद की फसलें उगाकर घर का निर्माण भी कराया है।

इधर हमीरपुर जिला कृषि अधिकारी सरस कुमार तिवारी ने बताया कि जनपद के सरीला और मुस्करा क्षेत्र के कई गांवों में महिलायें भी अब खेतीबाड़ी कर रही है। महिलाओं ने खेतों में सब्जी और बरसीम तथा अन्य मौसमी फसलों का उत्पादन कर आत्मनिर्भरता का संदेश दे रही है।

अब गांवों में महिलाएं कर रहीं मोदी की मंशा साकार : गांधी

समर्थ फाउंडेशन के सचिव देवेन्द्र गांधी ने सोमवार को बताया कि प्रधानमंत्री की मंशा है कि किसानों की आमदनी दोगुनी हो। इसके लिये सरकार कई कार्यक्रम चला रही हैं। उन्होंने बताया कि इस मंशा को एक्रीकेट हैदराबाद, काफरी झांसी व समर्थ के संयुक्त प्रयास से किसान मित्र कार्यक्रम कारीमाटी, सौखर गांव में चलाया जा रहा है। महिलाएं घूंघट लेने की प्रथा से बाहर आई है। ये सब्जियां अन्य फसलों का उत्पादन कर रही हैं। इससे उन्हें दोगुना लाभ मिला है।

मूंगफली की फसल से महिलाओं को हुआ 3.60 लाख रुपये का मुनाफा

संस्था के सचिव देवेन्द्र गांधी ने बताया कि दोनों गांवों में सोमवती, सुनीता और गुड्डों सहित सात महिलाओं ने एक-एक एकड़ जमीन पर मूंगफली की नयी प्रजाति की फसल का उत्पादन किया है जिससे 3.60 लाख रुपये की आमदनी हुयी है।

आठ कुंतल प्रति एकड़ के हिसाब से मूंगफली का उत्पादन हुआ है। सात महिलाओं में शीतला ने तीन एकड़ जमीन में मूंगफली की फसल की थी वहीं छह महिलाओं ने एक-एक एकड़ जमीन में फसलें की हैं।

बरसात में भी महिलाओं को सब्जियों से हुई दोगुनी आय

समर्थ फाउंडेशन के सचिव देवेन्द्र गांधी ने बताया कि बारिश के मौसम में भी खरौंज और कारीमाटी गांव में सोमवती ने सब्जी उगाकर 30 हजार रुपये कमाये है वहीं गुड्डो पत्नी लालता ने 18 हजार, शीतला पत्नी दसीराम ने 60 हजार, सुनीता पत्नी अच्छेलाल ने 15000, देवकुंवर पत्नी सियाराम ने 10 हजार तथा सुनीता पत्नी कैलाश ने 25 हजार रुपये की अतिरिक्त मुनाफा कमाया है। इन महिलाओं के घर में भी आमदनी दोगुनी होने से खुशी देखी जा रही है।

देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहें www.dastaktimes.org  के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए  https://www.facebook.com/dastak.times.9 और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @TimesDastak पर क्लिक करें। साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़-वीडियो’ आप देख सकते हैं हमारे youtube चैनल  https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos पर। तो फिर बने रहिये  www.dastaktimes.org के साथ और खुद को रखिये लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड।