मुख्तार पर योगी सरकार की टेढ़ी नजर, 40 लाख से बना स्लॉटर हाउस जमींदोज

मऊ, 28 अगस्त, दस्तक टाइम्स, (जाहिद इमाम) :  पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी पर योगी सरकार की टेढ़ी नजर कुछ यूं पड़ी है, कि उसकी सारी अवैध संपत्तियां आजकल धूल चाटती दिखाई दे रही हैं। लखनऊ में अंसारी के बेटों की दो मंजिला इमारत ढहाने के बाद आज जेसीबी मऊ के बूचड़खाने पर चल गई। पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में ग्रीनलैंड पर बना मुख्तार अंसारी का स्लॉटर हाउस जमींदोज हो गया।

ये स्लॉटर हाउस शहर कोतवाली थानाक्षेत्र के बंधा रोड पर बना था। इसे 40 लाख की लागत से बनाया तो गया था, लेकिन जिस जमीन पर ये बना, वो ग्रीनलैंड के तहत आती थी। इस स्लॉटर हाउस से करोड़ों की वसूली हुआ करती थी। जिसे शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी और डीएसपी की मौजूदगी में ढहा दिया गया।

मुख्तार अंसारी के खिलाफ अभी और कार्रवाई होगी। इस बात के संकेत सीएम योगी कार्यालय के ट्विटर हैंडल से मिले हैं। 27 अगस्त को उनके कार्यालय की ओर से किए गए ट्वीट में इस बात का जिक्र था। मुख्तार अंसारी की मऊ, गाजीपुर और अब लखनऊ में स्थित लगभग 70 करोड़ की अवैध संपत्ति को ध्वस्त किया गया है।

वहीं, 41 करोड़ की आय वाले अवैध धंधों पर ताला लगा दिया गया है। मुख्तार अंसारी के गैंग में शामिल 97 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। वहीं, 75 अपराधियों पर गैंगस्टर एक्ट और 12 पर गुंडा एक्ट लगाया गया है। मुख्तार अंसारी और उसके गैंग को दिए गए 75 शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराए गए हैं।