अद्धयात्म

अगर 11 दिन करें लें धनलक्ष्मी के यह अचूक उपाय तो- धन प्राप्ति के खुल जायेंगे सभी बंद ताले

धनलक्ष्मी को प्राप्त करने के लिए आज इंसान से जो कुछ भी बन पाता है वो उसे करता है| और इसके साथ ही वो धन अर्जित करने की चाह भी रखता है| अगर आप धनलक्ष्मी का वास अपने घर में पाना चाहते हैं तो ऐसे में आपके घर की गृहलक्ष्मी को यानी आपके पत्नी को कुछ छोटे और बेहद आसान उपाय करने होंगे| अगर आपकी पत्नी इन उपायों को पूरी श्रद्धा और मन से करती है तो धनलक्ष्मी का आपके घर में वास होने से कोई भी नही रोक सकता|

बता दे के इन उपायों के द्वारा परिवार के सभी सदस्यों की आय के स्रोतों में अचानक आपको वृद्धि देखने को मिलेगी| ये उये उपाय आपके लिए इतने ज्यादे असरदार और कारगर साबित होगे के आप के जीवन से लगभग सभी आर्थिक समस्याएं दूर हो जाएँगी| और साथ ही अगर आपके घर में आने वाले सारे धन के स्त्रोत्र व्यवसाय से जुड़े हैं तो आपको अधक मुनाफे मिलेंगे जिससे आपको जीवन में अथिक आपूर्ति से छुटकारा मिलेगा| और घर के सदस्यों को पदोन्नति भी मिलेगी|

ये है वो ख़ास उपाय जिन्हें अगर घर की गृहलक्ष्मी अगर करती है तो घर में धनलक्ष्मी का वास होता है :

1- घर की गृहलक्ष्मी को प्रतिदिन अपने घर के मुख्य द्वार पर दाहिने तरफ एक लोटा जल सूर्योदय के समय अर्पित करना चाहिए| ऐसा करने से घर में धन का आगमन बहुत ही सुगमता से होने लगता हैं और धन के स्त्रोत्र खुल जाते हैं।

2- गृहलक्ष्मी को रोज सुबह नाहा-धोकर शुद्ध होने के पश्चात पहले स्वयं और फिर इसके बाद सभी परिवार के सदस्यों को माथे पर शुद्ध केसर और अक्षत से तिलक करके काम पर जाने देना चाहिए| ऐसा करने से व्यवसाय में अधिक मुनाफा और नौकरी में पदोन्नति से धन लाभ अधिक मिलने लगता हैं ।

3- घर की लक्ष्मी को इन्द्र द्वारा रचित महालक्ष्मी स्तोत्र का 11 बार प्रति शुक्रवार एवं अमावस्या के दिन पाठ करना चाहिए। इसके द्वारा इंद्र देव की कृपा घर पर बनी रहती है और धन की परिपूर्ति होती रहती हैं|

4- किसी भी घर की गृहलक्ष्मी को श्रीमद भगवत गीता के ग्यारहवें अध्याय का प्रतिदिन स्नान करने के बाद पाठ करना चाहिए| ऐसा करने से उस घर में लक्ष्मी सदैव निवास करती हैं ।

5- हर एक शुक्रवार को सूर्यास्त के पश्चात ग्रहलक्ष्मी को परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर श्रीसूक्त का पाठ करना चाहिए| ऐसा करने से जीवन भर पैसों की कमी नहीं रहेगी ।

6- मां लक्ष्मी को अगर ग्रहलक्ष्मी पुष्प नक्षत्र में लाल पुष्प अर्पित करती है और शाम में पीपल वृक्ष के नीचे चंदन की सुगन्धित धूप व घी का दीपक प्रज्ज्वलित करती है तो रुष्ट हुई लक्ष्मी भी घर में वापस आ जाती हैं ।

8- गृहलक्ष्मी को पूर्णिमा के दिन गोपी चन्दन की नौ डलियों की पीले धागे से माला बनाकर किसी केले के पेड़ परतंग देना चाहिए| ऐसा करने से आपको अचानक से किसी स्त्रोत्र से धनलाभ होने लगता है |

9- घर की लक्ष्मी को सोमवार के दिन बेलपत्र के पेड़ की जड़ को किसी गुलाबी मलमल के कपड़े में लपेटकर तिजोरी में रख दे तों उसे आजीवन घर में धन का भंडार भरा रहेगा और साढ़ ही कभी भी आर्थिक तंगी का चेहरा नही देखना पड़ेगा |

Unique Visitors

13,765,556
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... A valid URL was not provided.

Related Articles

Back to top button