National News - राष्ट्रीयPolitical News - राजनीतिफीचर्ड

बड़ी खबर: अलवर की घटना पर राहुल बोले- ये है पीएम मोदी का क्रूर इंडिया

अलवर की घटना पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ये पीएम मोदी का क्रूर इंडिया है। जहां मानवता को घृणा के साथ बदल दिया गया है और लोगों को कुचल दिया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है। राहुल ने पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि नफरत ने मानवता की जगह ले ली है।

बड़ी खबर: अलवर की घटना पर राहुल बोले- ये है पीएम मोदी का क्रूर इंडिया

राजस्थान के अलवर में कथित गो-रक्षकों की हिंसा पर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि मोदी के ब्रूटल न्यू इंडिया में मानवता खत्म हो चुकी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अलवर में पुलिसकर्मियों को घायल अकबर खान को 6 किलोमीटर दूर अस्पताल ले जाने में 3 घंटे लग गए। लेकिन क्यों? पुलिसकर्मियों ने रास्ते में चाय भी पी, ये मोदी का क्रूर न्यू इंडिया है जहां नफरत ने मानवता की जगह ले ली है।

वहीं दूसरी ओर लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि राजस्थान पुलिस की कार्रवाई मेरे लिए आश्चर्यजनक नहीं है। उन्होंने ऐसा ही पहलू खान की हत्या मामले में किया था। राजस्थान पुलिस गाय के नाम पर हिंसा करने वालों का साथ दे रही है। यह गौ रक्षक और पुलिस इसमें साथ है। 

संसद परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने टीडीपी सांसदों ने किया विरोध प्रदर्शन

संसद में शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर बहस चली। जिसमें सत्तासीन एनडीए सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया था। इसके बाद आज सदन की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई अलवर लिंचिंग की घटना को लेकर हंगामा शुरू हो गया। जिसकी वजह से राज्यसभा की कार्यवाही को कुछ देर के लिए स्थगित करना पड़ा था। वहीं लोकसभा की कार्यवाही चल रही है। आज राज्यसभा के एजेंडे में तीन अहम विधेयक हैं वहीं लोकसभा में बैंकरप्सी कोड का दूसरा संशोधन विधेयक पेश किया जाएगा। इसके अलावा संसद में राफेल डील पर हंगामा होने के आसार हैं।

आंध्र प्रदेश और मॉब लिंचिंग का मुद्दा भी सदन में छाया रहेगा।आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए संसद परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने टीडीपी सांसदों ने विरोध प्रदर्शन किया। वह आंध्र के पुनर्गठन अधिनियम को लागू करने की मांग कर रहे हैं। वहीं सीपीआई सांसद डी राजा ने राज्यसभा में अलवर लिंचिंग पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया। उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने राज्यसभा को बताया कि उन्हें 267 के तहत कई सांसदों को नोटिस मिले हैं। हालांकि वह इन मुद्दों पर नियम के तहत चर्चा की अनुमति नहीं दे सकते हैं। 

इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेकता आनंद शर्मा ने भ्रष्टाचार निवारण बिल का मुद्दा उठाते हुए जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के मामले को उठाया। उन्होंने कहा, केंद्रीय जांच एजेंसियों जैसे कि सीबीआई, ईडी को संविधान के अंतर्गत कार्य करना चाहिए। वह किसी राजनीतिक पार्टी का प्रतिशोध या वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों पर अत्याचार करने का काम नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह संस्थाएं डर का माहौल बना रही हैं। इसपर सभापति ने आपत्ति जताई और कहा कि एक ममाले की वजह से आप जांच एजेंसियों की विश्वसनीयता पर सवाल नहीं उठा सकते हैं।

अलवर लिंचिंग के मामले पर सियासी खींचतान कम होने का नाम नहीं ले रही है। लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, राजस्थान पुलिस की कार्रवाई मेरे लिए आश्चर्यजनक नहीं है। उन्होंने ऐसा ही पहलू खान की हत्या मामले में किया था। राजस्थान पुलिस गाय के नाम पर हिंसा करने वालों का साथ दे रही है। यह गौ रक्षक और पुलिस इसमें साथ है। 

लोकसभा में पीयूष गोयल ने लोकसभा में कहा कि पिछली सरकारों में बड़े लोगों से कर्ज की वसूली नहीं होती थी सिर्फ छोटे लोगों को नोटिस भेजे जाते थे। उन्होंने कहा कि बैंकों का कर्ज डुबाने के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ऑफिसर गैलरी में एक अधिकारी पर विपक्षी दलों की निगरानी करने का आरोप लगाया। खड़गे ने कहा कि वह चुपचाप हमारे सांसदों की गिनती कर रहा है जबकि उसे उस गैलरी में बैठने का हक नहीं है। भाजपा सांसदों ने कांग्रेस की इस आपत्ति को खारिज कर दिया।

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंhttp://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastaklko
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूजवीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए https://www.youtube.com/channel/UCtbDhwp70VzIK0HKj7IUN9Q

Related Articles

Back to top button