यूएई में होगा टी-20 विश्वकप, जून में आईसीसी मीटिंग में होगा अंतिम फैसला

- in स्पोर्ट्स

स्पोर्ट्स डेस्क : कोरोना से भारत में बने हालात के चलते आईपीएल के अनिश्चित काल के लिए टलने के बाद अब अक्टूबर में भारत में होने वाले टी-20 विश्वकप की मेजबानी पर संदेह हो गया है.

इस बारे में बीसीसीआई को लगता है कि कोई भी टीम उस टाइम यहां आने में सहज महसूस नहीं करेगी. इस बारे में आखिरी फैसला एक महीने में होगा.

ये भी पढ़े : आईपीएल पोस्टपोन, कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बाद घर जा सकेंगे प्लेयर व अन्य

इस बारे में जून में आईसीसी की मीटिंग होनी है जिसमें आखिरी फैसला होगा, लेकिन आईपीएल को पोस्टपोन किए जाने के बाद भारत में लीग की मेजबानी की संभावना न के बराबर है.

दरअसल बायो बबल में कोरोना के कुछ मामले निकलने की वजह से आईपीएल पोस्टपोन होने के बाद बीसीसीआई भी अक्टूबर-नवंबर में खेले जाने वाले 16 टीमों के इस लीग की मेजबानी से कतरा रहा है.

एक समाचार एजेंसी के अनुसार बीसीसीआई के अधिकारियों की हाल में केंद्र सरकार के कुछ शीर्ष अधिकारियों से बात में लीग को यूएई में मेजबानी करने पर काफी हद तक सहमति बन गई है.

वैसे टी-20 विश्वकप नौ जगहों पर होना है जिनपर अभी नाम तय हुए है. बीसीसीआई के सूत्रों ने गोपनीयता की शर्त पर बोला कि, आईपीएल का चार सप्ताह के अंदर निलंबन इस बात का संकेत है कि देश पिछले 70 वर्षो में अपने सबसे बुरे स्वास्थ्य संकट में है और इस तरह के ग्लोबल टूर्नामेंट का आयोजन करना वास्तव में सुरक्षित नहीं होगा.

उन्होंने बोला कि, भारत में नवंबर में (कोरोना की) तीसरी लहर आने की संभावना जताई जा रही है. इसलिए बीसीसीआई मेजबान रहेगा लेकिन लीग संभवत: यूएई में खेली जाएगी.

वैसे स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सितंबर में भारत में तीसरी लहर की चेतावनी दी है. भारत में अभी स्थिति विकट बनी है. यहाँ पिछले कुछ टाइम से हर दिन तीन लाख से ज्यादा मामले निकल रहे है.

वही आईसीसी ऐसी स्थिति में इंटरनेशनल क्रिकेट टीमों की सुरक्षा को लेकर जोखिम नहीं लेगा. एक अन्य सूत्र ने बोला कि यदि स्थिति सामान्य नहीं हो जाती तो अगले छह महीने तक कोई भी देश भारत का दौरा नहीं करना चाहेगा.

इसमें बोला गया कि, यदि एक और लहर आती है तो प्लेयर और उनके परिजन काफी सतर्क रहना होगा. इसलिए उम्मीद है कि बीसीसीआई मेजबानी यूएई में करने पर सहमत हो जाएगा. उन्होंने बोला कि आईपीएल के निलंबन के बाद बीसीसीआई के अधिकारी किसी भी तरह का जोखिम नहीं लेना चाहते हैं.

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहें dastaktimes.org के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए : https://www.facebook.com/dastak.times.9
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए : https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़–वीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए : https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos