बंग्लादेश में नाबालिक ने पानी मांगा, तो उन्होंने उसे दी दर्दनाक मौत

दस्तक टाइम्स/एजेंसी:A Bangladeshi boy shouts slogans as he joins activists demanding maximum penalty for war criminals in Dhaka, Bangladesh, Sunday, Nov.3, 2013. A special war crimes tribunal in Bangladesh on Sunday sentenced to death two Bangladeshis now living in the U.S. and Britain for crimes against humanity during the country's independence war against Pakistan in 1971. (AP Photo/Suvra Kanti Das)

बांग्लादेश की एक अदालत ने रविवार  को, दो बच्चों की हत्या के लिए दोषी ठहराए गए छह लोगों को मौत की सजा सुनाई।समाचार एजेंसी सिन्हुआ की एक रिपोर्ट के अनुसार, सिलहेट सिटी की एक अदालत ने इस साल जुलाई में 13 वर्षीय समीउल आलम राजन को लोहे की रॉड से पीट-पीटकर हत्या के जुर्म चार लोगों को फांसी की सजा सुनाई है।

जिस समय आरोपियों ने राजन की हत्या की थी उस दौरान वह पूरी वारदात कैमरे में कैद हो गई थी। सबूत के तौर पर यह वीडियो क्लिप अदालत में पेश की गई थी।

वीडियो में साफ दिख रहा था कि, जब बच्चे ने उनसे पीने के लिए पानी मांगा तो उन लोगों ने उसे उसका पसीना पीने के लिए कहा।  वह लड़के को जबरन चोरी का आरोप स्वीकार करने के लिए मजबूर कर रहे थे।

राजन पर साइकिल चुराने का आरोप लगाय गया था। हालांकि उसके परिवार ने उसके निर्दोष होने का दावा किया। हमलावर उसे पीटते रहे। वह चिल्ला-चिल्लाकर बोल रहा था, ‘अगर इस तरह मुझे पीटते रहे तो मैं मर जाऊंगा।’

वहीं एक अदालत ने रकीब हवलदार (12) की हत्या के लिए दो लोगों को मौत की सजा सुनाई। हवलदार की तीन अगस्त को मौत हो गई थी। आरोपी उमर शरीफ और मिंटू मियां ने हवलदार का इसलिए उत्पीड़न किया, क्योंकि उसने कहीं और नौकरी के लिए उनके गैराज की नौकरी छोड़ दी थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *