Crime News - अपराधNational News - राष्ट्रीयPolitical News - राजनीतिफीचर्ड

पटना में विस्फोट की घटना में मृतकों की संख्या 6 हुई

pt1पटना (एजेंसी)। बिहार की राजधानी पटना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ‘हुंकार रैली’ के पूर्व हुए श्रृंखलाबद्ध विस्फोटों में मृतकों की संख्या बढ़ कर छह हो गई है। इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार देर रात पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) पहुंचकर घायलों से मुलाकात की। इन विस्फोटों में इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार घायलों में से एक की मौत देर रात हो गई जिससे मरने वालों की संख्या छह हो गई। पुलिस के आला अधिकारियों के अनुसार इन विस्फोटों के पीछे आईएम का हाथ है और इसके पीछे की साजिश झारखंड के रांची में रची गई थी। उन्होंने बताया कि पटना और रांची से अब तक चार संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। अधिकारिक तौर पर इस मामले का जल्द खुलासा कर दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार रांची से आतंकवादी रविवार सुबह पटना पहुंचे थे। पटना से हिरासत में लिए गए व्यक्ति की पहचान इम्तियाज के रूप में की गई है जो रांची का रहने वाला बताया जाता है। इसके पास से कई फोन नंबर मिले हैं।   पटना के पुलिस महानिदेशक अभयानंद ने बताया कि पटना के रेलवे स्टेशन और रैली स्थल गांधी मैदान के आसपास कुल सात धमाके हुए जिसमें छह लोगों की मौत हो गई है जबकि 83 लोग घायल हो गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी विस्फोट साढ़े नौ बजे से लेकर साढ़े बारह बजे के बीच हुए हैं। अभयानंद ने बताया कि मृतकों में से तीन की पहचान पटना के रामनारायण सिंह  कैमूर के विकास सिंह  सुपौल के भरत रजक और गोपालगंज के मुन्ना श्रीवास्तव के रूप में की गई है। इस बीच मुख्यमंत्री ने देर रात पीएमसीएच जा कर घायलों से मुलाकात की और स्वास्थ्य विभाग को कई निर्देश दिए। उन्होंने आवश्यकता पड़ने पर घायलों को राज्य से बाहर भेजे जाने का निर्देश विभाग को दिया। इधर  पूरे मामले की जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की टीम पटना पहुंच गई है। इस घटना के बाद पटना सहित पूरे राज्य में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि बिहार सरकार ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों के मुफ्त इलाज की घोषणा की है।

Unique Visitors

13,412,299
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button