छठ पूजा : डूबते सूर्य को आज अर्घ्य देंगे व्रती, दिल्ली में शाम 5 होगी पूजा

नई दिल्ली : दिल्ली में कोरोना काल में यमुना घाट और सार्वजनिक स्थल पर छठ पूजा की अनुमति न होने की वजह से लोगों ने अपने घर की छतों पर ही अर्घ्य देने की तैयारी की है। दिल्ली में आज शाम को छठ पूजा शाम 5 बजे होगी क्योंकि यहां सूर्यास्त 5:26 बजे होगा। जबकि बिहार के पटना में सूर्यास्त का समय 4:59 पर होगी। पूजा के लिए लोगों ने प्लास्टिक के टब खरीदे हैं।

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे केस में एसपी-सीओ सहित 40 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई तय

व्रतधारी टब में भरे पानी में खड़े होकर अर्घ्य दे सकेंगे। कुछ घरों में प्लास्टिक के टब की जगह रबर वाले बड़े टब और ईंट से चारदीवारी बनाकर उस पर प्लास्टिक की पन्नी लगाकर पानी से भर दिया गया है। घाट की तर्ज पर छठ पूजा के लिए घरों में वेदी भी बनाई गई है।

पूर्वांचल विकास संगठन छठ पूजा समिति के अध्यक्ष अभय सिन्हा ने बताया कि इस बार यमुना घाट पर पूजा का आयोजन नहीं कर रहे हैं। लोग घरों की छत पर अर्घ्य दे सकें उसके लिए गरीब और असहाय लोगों के घर-घर जाकर छठ पूजन सामग्री उपलब्ध कराई है। साथ ही लोगों से घर पर ही पूजा करने का अनुरोध किया है, जिससे लोग कोरोना से बच सकें।

जेलरवाला बाग रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन अशोक विहार फेज-2 के मुख्य संरक्षक प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि इलाके में रहने वाले ज्यादातर पूर्वांचली अपने घरों से अर्घ्य दे सकें उसकी व्यवस्था करवाई है। इसके लिए प्लास्टिक के टब को खरीद गया है, जिसमें व्रतधारी खड़े होकर अर्घ्य दे सकेंगे। सरकार ने सार्वजनिक तौर पर पूजा आयोजन की अनुमति नहीं दी है। इसलिए अपने घरों में ही छठ पूजन किया जाएगा।

खरना सम्पन्न : चार दिवसीय छठ पूजन के दूसरे दिन घरों में खरना हुआ, जिसमें गुड़ की खीर बनाई गई। साथ ही पूजा-अर्चना की गई। शुक्रवार सुबह छठ पूजा के लिए ठेकुआ का प्रसाद बनाया जाएगा। फिर शाम को डूबते सूर्य को अर्घ्य और अगले दिन प्रातकाल में उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इसके बाद पूजा का समापन होगा। छठ पूजा से जुड़ी सामग्री को लेकर पहला अर्घ्य देने से पहले बाजारों में जमकर खरीदारी हुई। दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पूजन सामग्री की खरीद के लिए महिलाओं की भीड़ जुटी हुई थी।

पहाड़गंज के नेहरू बाजार में भी लोग पूजन सामग्री की खरीदारी करते दिखे। शुक्रवार को डूबते सूर्य को पहला अर्घ्य दिया जाना है। इसे देखते हुए छठ पूजा घाटों पर पुलिस की तैनाती हो रखी है ताकि लोग घाटों पर न जुटें। वहीं, छठ पूजा समिति दिल्ली प्रदेश के सचिव ब्रजेश पांडेय और महासचिव ठाकुर जगदीश सिंह ने कहा कि आईटीओ घाट पर पिछले 40 वर्षों से छठ पूजा का आयोजन हो रहा है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते सरकार ने पूजा की अनुमति नहीं दी है। व्रतधारियों से अनुरोध है कि वह घाटों पर पूजा करने के लिए न आएं। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन का सहयोग करें।

देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंwww.dastaktimes.orgके साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastak.times.9और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @TimesDastak पर क्लिक करें। साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़-वीडियो’ आप देख सकते हैं हमारे youtube चैनल https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videosपर। तो फिर बने रहियेwww.dastaktimes.orgके साथ और खुद को रखिये लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड।