उत्कटासन से दूर होती हैं पेट की समस्याएं, शरीर में बनी रहती है ताजगी

जीवनशैली : शरीर को दुरुस्त रखने के लिए योग सबसे कारगर और आसान उपाय है। ध्यान देने वाली बात यह है कि योग शुरू करने से पहले शरीर को गरम कर लिया जाये, चाहे कुछ मिनटों की दौड़ लगाकर या फिर उछल-कूद लगाकर।

लैक्मे फैशन वीक के इस सीजन के लिए बहुत उत्साहित हूं : मृणाल ठाकुर

योग से शारीरिक और मानसिक दोनों समस्याएं दूर होती हैं और शरीर में ताजगी महसूस होती है। योग के अनेक आसन हैं, जिसमें से एक है कुर्सीआसन या उत्कटासन। उत्कटासन दो शब्द कुर्सी अर्थात बैठने की जगह और आसन अर्थात बैठने की मुद्रा से बना हुआ है। इस आसन की सबसे मजेदार बात यह है कि यह आसन कुर्सी पर बैठने की काल्पनिक मुद्रा है।

कैसे करें

सबसे पहले स्वच्छ जगह पर एक दरी बिछा लें। अब सूर्य नमस्कार की मुद्रा में खड़े हो जाएं। इसके बाद एक गहरी सांस लें। इसके बाद अपने हाथों को हवा में लहराते हुए ऊपर ले जाएं। जबकि अपने शरीर को धीरे-धीरे बैठने की मुद्रा में लाएं (जैसे कुर्सी पर बैठते हैं) इस मुद्रा में कुछ पल के लिए रुकें। इसके बाद पुनः अपनी मुद्रा में आ जाएं। ऐसा रोजाना करें।

उत्कटासन से कमर मजबूत होती है, जांघों एवं पंजों में मजबूती आती है। इससे रीढ़ की हड्डी फ्लेक्सिबल होती है। इस आसन को करने से शरीर में ताजगी बनी रहती है। जिन लोगों को पेट संबंधी समस्यााएं होती हैं, उनके लिए उत्कटासन रामबाण दवा है। इसे करने से कब्ज, बदहजमी, अपच आदि की समस्याओं में कारगर है।

देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंwww.dastaktimes.orgके साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिएhttps://www.facebook.com/dastak.times.9और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @TimesDastak पर क्लिक करें।

साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़-वीडियो’ आप देख सकते हैं हमारे youtube चैनलhttps://www.youtube.com/c/DastakTimes/videosपर। तो फिर बने रहियेwww.dastaktimes.orgके साथ और खुद को रखिये लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड।FacebookTwitterWhatsAppPinterestEmailShareFacebookTwitterWhatsAppPinterestEmailShareFaceFacebookTwitterWhatsAppPinterestEmailShareFacebookTwitterWhatsAppPinterestEmailShare